Contact Information / सम्पर्क जानकारी

C-125,1st Floor,Sector-02 Noida,Uttar,Uttar Pradesh - 201301

Call Us / सम्पर्क करें

यूँ तो हमारे आस पास का वातावरण और वस्तुएं हमारे जीवन पर विशेष प्रभाव डालती हैं। वास्तुशास्त्र में कई ऐसे उपाय और वस्तुएं बताई गयी है जो हमारे जीवन में नकारात्मक ऊर्जा को हटाकर सकारात्मक ऊर्जा के लिए मार्ग बनाती है। हमारे घर में मौजूद प्रत्येक वस्तु अगर वास्तुशास्त्र के अनुसार व्यवस्थित होती है तो एक अलग ही पॉजिटिव एनर्जी का अहसास होता है। वास्तु में हर एक पौधे का अपना महत्व होता है। वास्तुशास्त्र के अनुसार मनी प्लांट को धन के लिए शुभ माना जाता है लेकिन क्रासुला का पौधा यानि Jade Plant को भी वास्तुशास्त्र में सकारात्मक ऊर्जा का भंडार बताया गया है जो सुख समृद्धि और शांति लाता है।

जेड प्लांट का वैज्ञानिक नाम क्रासुला ओवाटा (Crassula Ovata) है. इसे जेड ट्री (Jade Tree), फ्रेंडशिप ट्री (Friendship Tree), लकी ट्री (Lucky Tree) और मनी ट्री (Money Tree) के नाम से भी जाना जाता है। Jade Plant की पत्तियां मोटी होने के साथ साथ बहुत छोटी और मुलायम होती है। ये पौधा बहुत तेजी से बढ़ता है और इसके लिए ज्यादा धूप की भी आवश्यकता नहीं होती। इसलिए इसको घर के अंदर रखने पर भी कोई हानि नहीं पहुँचती।

क्रासुला का पौधा दिशा

जेड प्लांट की पत्तियां हलकी हरी और हलकी पीली होती है, वसंत ऋतु में इसमें तारेनुमा छोटे सफेद या गुलाबी फूल खिलते हैं जो देखने में बहुत ही सुंदर लगते हैं।

जेड प्लांट को किस दिशा में लगाना चाहिए ?

वास्तुशास्त्र के अनुसार प्रत्येक वस्तु के एक निश्चित दिशा होती है। क्रासुला के पौधे को भी लगाते समय दिशा का बहुत ध्यान देना चाहिए. ये पौधा घर के प्रवेश द्वार की दाहिनी तरफ रखना चाहिए क्यूंकि गलत दिशा में रखने पर ये धनहानि करा सकता है।

Jade Plant for Money

हफ्ते में इसको 2 या 3 बार ही पानी देना काफी रहता है और ज्यादा धूप की आवश्यकता न होने के कारण इसको Indoor Plant की तरह आराम से उपयोग में लाया जा सकता है। हालाँकि हफ्ते में एक बार इसको बाहर धूप में रखना फायदेमंद साबित होता है।

वास्तुशास्त्र के अनुसार जेड प्लांट सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाता है जो धन को अपने तरफ खींचती है। अगर आपके घर में धन नहीं ठहरता है तो आप भी क्रासुला का पौधा लगा सकते हैं।

Share:

administrator

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *