Contact Information / सम्पर्क जानकारी

C-125,1st Floor,Sector-02 Noida,Uttar,Uttar Pradesh - 201301

Call Us / सम्पर्क करें

न्यूयॉर्क: ऑर्गनाइज़ेशन ऑफ इस्लामिक कॉपरेशन (OIC) के सदस्य देशों के संयुक्त राष्ट्र (UNO) में प्रतिनिधियों ने घोषणा की है कि वे फलस्तीनियों पर पूर्वी यरुशलम में इसराइली हमलों के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय समर्थन जुटाएंगे। न्यूयॉर्क में मुस्लिम देशों के संगठन OIC के स्थायी प्रतिनिधियों की हुई बैठक में शेख जर्राह और अल-अक्सा मस्जिद में इसराइली सुरक्षाबलों के बल प्रयोग में 300 से अधिक फलस्तीनियों के घायल होने की निंदा की है।

बयान में कहा गया है कि तुर्की, सऊदी अरब और पाकिस्तान समेत OIC के मुख्य समूह के सदस्यों ने इस मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र महासभा का मुख्य सत्र बुलाने की मांग की है। इसमें कहा गया है कि OIC के स्थायी प्रतिनिधि अल-अक्सा मस्जिद में मुस्लिम श्रद्धालुओं और यरुशलम और गाज़ा में हुई हिंसा पर चर्चा के लिए सहमत हुए हैं।

पूर्वी यरुशलम के शेख़ जर्राह से फ़लस्तीनी लोगों को निकालने के इसराइली कोर्ट के फैसले के बाद तनाव चरम पर है। फलस्तीनी शेख जर्राह के निवासियों के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे थे जब इसराइली सुरक्षाबलों से उनकी झड़पें हुईं। बयान के मुताबिक OIC राजदूतों ने बैठक में कहा कि इसराइल का हालिया हमला सभी मानवीय नियमों और मानवाधिकार कानूनों के विरुद्ध है’और ख़ासकर के मुसलमानों के पवित्र महीने रमज़ान में।

राजदूतों ने कहा, ‘विशेष रूप से यह बात उठाई गई थी कि शेख़ जर्राह के निवासी जो दशकों से वहां रह रहे हैं, उनको जबरन निकाले जाने का खतरा है।’ इसके साथ ही राजदूतों ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से फलस्तीन की सुरक्षा के लिए तुरंत कदम उठाने की मांग की। पाकिस्तान के संयुक्त राष्ट्र में स्थाई प्रतिनिधि मुनीर अकरम ने कहा, ‘सभी फ़लस्तीनियों के साथ स्पष्ट और मज़बूत एकजुटता दिखाए जाने की ज़रूरत है।’

Share:

administrator

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *