Contact Information / सम्पर्क जानकारी

C-125,1st Floor,Sector-02 Noida,Uttar,Uttar Pradesh - 201301

Call Us / सम्पर्क करें

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नारद स्टिंग मामले की याचिका पर सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश अनिरुद्ध बोस ने स्वयं को अलग कर लिया है। जिसके बाद यह सुनवाई अब दूसरी बेंच करेगी। बता दें कि ममता बनर्जी ने हलफनामा दाखिल करने की अनुमति न देने के आदेश पर कलकत्ता हाईकोर्ट को चुनौती दी है। पश्चिम बंगाल के कानून मंत्री मलय घटक द्वारा दायर की गई याचिका की अलग-अलग अपीलों पर न्यायमूर्ति अनिरुद्ध बोस और न्यायमूर्ति हेमंत गुप्ता की पीठ ने सुनवाई की है।

ममता बनर्जी की याचिका को लेकर अब यह तय किया गया है कि सुप्रीम कोर्ट 25 जून को इस पर सुनवाई करेगा। जस्टिस अनिरुद्ध बोस के इस मामले से अलग होने के बाद यह मामला दूसरी बेंच को सौंप दिया गया है और कोर्ट ने कहा है कि उन्होंने अभी मामले की फाइल पूरी तरह नहीं पढ़ी और इस बीच कलकत्ता हाईकोर्ट इस मामले की सुनवाई नहीं करेगा। मालूम हो कि पश्चिम बंगाल सरकार के वकील विकास सिंह ने उच्च न्यायालय में होने वाली सुनवाई को रोकने की मांग की थी।

सुप्रीम कोर्ट ने मलय घटक द्वारा दायर की गई अपील के संदर्भ में कहा था कि कोर्ट 22 जून को इसकी सुनवाई करेगा। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने 18 जून को कलकत्ता हाईकोर्ट से कहा था की सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई होने के एक दिन बाद ही वह इस मामले की सुनवाई करे। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हाई कोर्ट द्वारा याचिका दायर करने से इनकार करने पर सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था।

गौरतलब है कि नारद घोटाले में तृणमूल कांग्रेस के चार मंत्रियों को पिछले महीने सीबीआई ने गिरफ्तार कर लिया था और उस दौरान ममता बनर्जी सीबीआई कार्यालय पहुँची थी। गिरफ्तार हुए चार नेताओं में सुब्रत चटर्जी, पूर्व मेयर सोवन चटर्जी, विधायक मदन मित्रा और फिरहाद हकीम का नाम शामिल है। नारद घोटाला एक स्टिंग ऑपरेशन से जुड़ा है। जानकारी के अनुसार इसमें पूर्व सरकारी कर्मचारी स्टिंगकर्ता सैमुअल से रिश्वत लेते हुए पकड़े गए और ये सारा मामला कैमरे में कैद हो गया।

 

 

Share:

administrator

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *